दुनिया अब हमारा है, सब को बताएंगे

दुनिया अब हमारा है, सब को बताएंगे
जय-जय सतनाम का परचम लहराएंगे

ये विश्व हमारा हो - कुछ ऐसा कर जाएंगे
सतनाम का अब फिर से अलख जगाएंगे

धरती आसमां ये है हमारी, सबको बताएंगे
चांद सूरज की ओर भी अब कदम बढाएंगे

सतनाम धर्म की ज्योति जलाएंगे
मनखे-मनखे एक समान ये सिद्ध कर जाएंगे

जो न समझे उन्हे अब नींद से जगाएंगे
जय-जय सतनाम का परचम लहराएंगे

हुलेश्वर जोशी सतनामी
१४-०७-२०१५