अनमोल वचन - सतनाम धर्म

शनिवार, 8 नवंबर 2014

अनमोल वचन

                                       

मनखे-मनखे एक समान
All human beings have an equal.
परमपूज्यनीय गुरू घासीदास बाबा
Param Pujniya Dharm Guru Ghasidas Baba


अधिकार के लिए लडो, अन्यथा कुछ नही मिलेगा
Fight for the right,
Otherwise something will not.
परमपूज्यनीय त्रिभूवन जोषी
Param Pujniya Tribhuwan Joshi
                    

शिक्षा ग्रहण पहले, भोजन ग्रहण नहले
First education,
Ninth in take a food.
परमपुज्यनीया माता श्यामा देवी
Param Pujniyaa Mata Shyama Devi


प्रेम शांति और सद्भावना जीवन का मूल धर्म है
Love, peace and harmony, the origin of life is religion.
परमपूज्यनीय मालिक राम जोषी
Param Pujniya Malik Ram Joshi


जम्मो जीव हे भाई बरोबर
All creatures are like brothers.
आचार्य हुलेष्वर जोषी

Acharya Huleshwar Joshi

Kindly Share on Social Media - Satnam Dharm

EMozii-for Comments on SATNAM DHARM
हम भारत के नागरिकों के लिए भारत का संविधान समस्त विश्व के सारे धार्मिक पुस्तकों से अधिक पूज्यनीय और नित्य पठनीय है। यह हमारे लिए किसी भी ईश्वर से अधिक शक्ति देने वाला धर्मग्रंथ है - हुलेश्वर जोशी

निःशूल्क वेबसाईड - सतनामी एवं सतनाम धर्म का कोई भी व्यक्ति अपने स्वयं का वेबसाईड तैयार करवाना चाहता हो तो उसका वेबसाईड निःशूल्क तैयार किया जाएगा।

एतद्द्वारा सतनामी समाज के लोगों से अनुरोध है कि किसी भी व्यक्ति अथवा संगठन के झांसे में आकर धर्म परिवर्तन न करें, समनामी एवं सतनाम धर्म के लोगों के सर्वांगीण विकास के लिए सतनामी समाज का प्रत्येक सदस्य हमारे लिए अमूल्य हैं।

एतद्द्वारा सतनामी समाज से अपील है कि वे सतनाम धर्म की संवैधानिक मान्यता एवं अनुसूचित जाति के पैरा-14 से अलग कर सतनामी, सूर्यवंशी एवं रामनामी को अलग सिरियल नंबर में रखने हेतु शासन स्तर पर पत्राचार करें।